Blog

  • virtual siyahi

    मौन और शोर के बीच की स्थिरता

    November 25, 2021 by

    ऊपर खुला आसमान था और नीचे हरियाली का डेरा था मन में बेचैनी और हाथ में चाय का प्याला लिए मैंने एक सपना देखा खुली आँखो से देखे सपने फिर से जीने की उम्मीद दे जाते हैं इतनी उथल पुथल और उधेड़बुन के बीच भी अपनी सोच में एक स्थिरता को देखा कितना कुछ होकर… Read more

  • Virtual Siyahi

    फूलों का एक बिछावन

    November 20, 2021 by

    ना कहीं जाने की जल्दी ना कही पहूचने का विचार ना मुझे कोई ढूंढने वाला ना किसी को मेरा इंतज़ार आगे भी मैं पीछे भी मैं मानो फूलों का एक बिछावन हो और उसे देखते हुए मुस्कुराती सी मैं कुछ बिखरे हुए फूलों की सुंदरता और इनके बीच बिखरी सौंधी सी ख़ुशबू के भीतर की… Read more

  • मानसिक स्वास्थ्य

    क्या है मानसिक स्वास्थ्य और क्यों मुश्किल है मानसिक स्वास्थ्य पर चर्चा?

    July 27, 2021 by

    क्या है मानसिक स्वास्थ्य और क्यों जरुरी है कि हम मानसिक स्वास्थ्य के बारें में बात करें और अपना ख्याल रखें ? आपको पता है तनाव सबसे प्रमुख कारण है किसी भी व्यक्ति के जीवन को नीरस बनाने के लिए? काफी बार हमे महसूस भी नहीं होता कि हम तनाव में है और हम बस… Read more

  • मानसिक स्वास्थ्य

    क्या आपको छोटी छोटी बातों का टेंशन होता हैं?

    June 26, 2021 by

    क्या आपको भी छोटी छोटी बातें परेशान करती है ? क्या आपको स्ट्रेस होता है ? मुझे भी होता है , क्यूंकि यह स्वाभाविक है। फर्क यहाँ यह होता है कि हम उन बातों का किस हद तक अपने स्वास्थय और सेहत पर असर होने देते हैं । हम इतने लोगो से घिरे रहते है,… Read more

  • You start dying slowly

    You start dying slowly – Martha Medeiros

    May 29, 2021 by

    “You start dying slowly if you do not travel, if you do not read, If you do not listen to the sounds of life, If you do not appreciate yourself. You start dying slowly When you kill your self-esteem; When you do not let others help you. You start dying slowly If you become a… Read more

  • दिए सा जलना तुम

    May 21, 2021 by

    इक दिया दहलीज़ पर रखा था मैंने कि तेज़ हवा का झोंका आया संग अपने इक पेगाम लाया पेगाम में इक तूफ़ान का अंदेशा था उस तूफ़ान के आगे मेरा दिया टिक ना पाया मैंने फिर अपनी दहलीज़ पर इक दिया लगाया मेरा आँगन फिर से ठीक उसी तरह जगमगाया पर ना जाने क्यूँ फिर… Read more

  • poem on letting go

    जाने देने का सुख

    May 14, 2021 by

    जाने देने में भी एक सुख है जिसका एहसास बड़े लम्बे समय बाद होता है हाँ, किसी को जाने देना आसान तो नहीं होता पर एक वक़्त के बाद दोनो सिरे खींचते खींचते, कसने लग जाते है वो एक दूसरे की क्षमता पर रह जाता है कि कितना और खींचना है और, उस खिंचाव की… Read more

  • Letters of compassion

    Letters Of Compassion – May Edition

    May 9, 2021 by

    Dear reader, It has been more than a year, I started this initiative to write and send hand-letters letters to strangers. And everyone time I wrote a letter and couriered it, I felt a higher sense of contentment. I felt what the magic of words is capable of doing, and how just a few words can… Read more

  • कोरोना वायरस, अकेलापन और तनाव

    कोरोना वायरस, अकेलापन और तनाव

    May 7, 2021 by

    कोरोना वायरस के साथ जूझते हुए हमे एक साल से ज़्यादा हो गया । ठहरी हुई ज़िन्दगी, रुके हुए काम , बंद हुए व्यापार और अनेको पारिवारिक और आर्थिक समस्याओं का सामना करते हुए हमने कोरोना वायरस के साथ भी समझौता करके जीना सीख लिया था क्यूँकि बात खुद कि और परिवार की सुरक्षा की… Read more

  • Corona diary

    Corona Diary -Indore

    April 19, 2021 by

    Do your part, in whatever way possible, just don’t be insensitive and completely ignorant. The ones who are still visiting exotic places, enjoying their vacations, I am sure they must be taking all the precautions but please refrain from flaunting the glimpses of your privileged life on the social media platforms. You can post it… Read more

View all posts

Follow My Blog

Get new content delivered directly to your inbox.